Computer सिस्टिम सॉफ्टवेअर (What Is Computer System Software)

What Is Computer System Software?



Computer सिस्टिम सॉफ्टवेअर

      कंप्यूटर जिस प्रकार के सॉफ़्टवेयर उपयोग करता है , उसे सिस्टम सॉफ्टवेयर कहा जाता है।

      यह एक बॅकग्राउंड सॉफ्टवेयर है जो कंप्यूटरों को अपने आंतरिक संसाधनों को नियंत्रित करने में मदद करता है। सिस्टम सॉफ्टवेयर एक प्रोग्रॅम नहीं है, इसमें कई प्रोग्रॅम्स शामिल हैं।

      सिस्टिम सॉफ्टवेयर में मुख्य रूप से निम्नलिखित प्रोग्रॅम्स शामिल हैं।

1. ऑपरेटिंग सिस्टिम

      कंप्यूटर शुरू होने के बाद, इसके साथ प्रथम जो प्रोग्रॅम शुरू होता है, वह ऑपरेटिंग सिस्टम है। ऑपरेटिंग सिस्टम के बिना कंप्यूटर का उपयोग करना असंभव है।

      किसी कंप्यूटर का उपयोग करने के लिए, कंप्यूटर में ऑपरेटिंग सिस्टम स्थापित होना आवश्यक है। आप अपनी आवश्यकता के अनुसार ऑपरेटिंग सिस्टम इंस्टाल कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, विंडोज।

            1.युजर इंटरफेस उपलब्ध कराना:- कंप्यूटर का उपयोग करते समय आप विभिन्न ग्राफ़िकल जानकारी देख सकते हैं। यह सभी ऑपरेटिंग सिस्टम द्वारा संभव है। इसका मतलब है कि ऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर और उपयोगकर्ता के बीच एक दृश्य आदान-प्रदान उपलब्ध करता है।

ऑपरेटिंग सिस्टिम के कार्य:-

      2. स्रोत नियंत्रित करना:- कंप्यूटर का उपयोग करते समय, कई प्रोग्राम कंप्यूटर स्क्रीन पर चलते हैं। ऑपरेटिंग सिस्टम इन सभी को नियंत्रित करता है।

      3. अॅप्लिकेशन्स चलाना:- ऑपरेटिंग सिस्टम विभिन्न कंप्यूटर अॅप्लिकेशन्स को संचालित और प्रबंधित करता है।


      2. युटीलिटी

      कंप्यूटर का उपयोग करते समय कभी-कभी कम्प्यूटर अचानक बंद हो जाता है, या अटक जाता है। कंप्यूटर की डिस्क भर जाती है। फ़ाइलें खराब हो जाती हैं। ऐसी कई समस्याएं उत्पन्न होती हैं। युटीलिटीज् उनके समाधान के लिए महत्वपूर्ण हैं।

      कंप्यूटर पर काम करते समय जब समस्या उत्पन्न होती है, तो युटीलिटी प्रोग्रॅम्स समस्याओं का समाधान करने के लिए उपयोग किया जाता है।

      विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम में निम्न युटीलिटी प्रोग्रॅम्स उपलब्ध होते है।

      डिस्क क्लिनअप, डिस्क डिफ्रॅग्मेंट, बॅकअप, ट्रबलशूट इत्यादि।

      3. डिव्हाइस ड्रायव्हर्स

      किसी भी हार्डवेयर को कंप्यूटर पर उपयोग करने के लिए सॉफ्टवेयर यानि प्रोग्रॅम का उपयोग किया जाता है। उन हार्डवेयर प्रोग्रॅम को डिव्हाइस ड्रायव्हर्स कहा जाता है। डिव्हाइस ड्रायव्हर्स उन हार्डवेयर से संबंधित प्रोग्राम है, जो आपको उस हार्डवेयर का उपयोग करने की अनुमति देता है।

      उदाहरण के लिए। यदि आपके पास एक नया प्रिंटर या स्कैनर है, तो आपको उसका उपयोग करने के लिए डिव्हाइस ड्रायव्हर्स इंस्टॉल करना होगा। उसके बाद ही आप प्रिंटर या स्कैनर डिव्हाइस का उपयोग कर सकते हैं।