Introduction to C++(जावा प्रोग्रामिंग क्या है, Java Programing Kya hai )

              जावा प्रोग्रामिंग क्या है,
         Java Programing Kya hai 




C++ एक ऑब्जेक्ट oriented programming भाषा है। C++ Bjarne stroustrup के द्वारा विकसित की गयी थी। C++ के आने से पहले c और Simula 67 दो लोकप्रिय languages थी। Bjarne stroustrup इन दोनों languages को मिलाकर एक ऐसी language बनाना चाहते थे, जिसमे object oriented प्रोग्रामिंग के सभी features हो। उनकी इसी सोच का परिणाम C++ थी। C++ को 1979 में bell laboratories में विकसित किया गया था। C++ एक middle level language है। इसमें high level और low level भाषा के फीचर्स है। C language के सभी features C++ में पाये जाते है। C++ के 3 important features है।  
  1. Object oriented 
  2. Low level as well as high level 
  3. Easy to learn 
C++ कँहा कँहा यूज़ की जाती है और आप इसे कैसे इस्तेमाल कर सकते है, आइये जानने का प्रयास करते है। 
  1. C++ को ज्यादातर उन सॉफ्टवेयर में यूज़ किया जाता है जँहा Hardware के ऊपर अधिक control की आवश्यकता होती है। जैसे की device ड्राइव बनाने के लिए C++ का इस्तेमाल किया जाता है। 
  2. C++ एक multipurpose भाषा है। इसे आप बड़े software क्रिएट करने के लिए इस्तेमाल कर सकते है। 
  3. आज कल C++ को ज्यादातर शिक्षा के purpose से यूज़ किया जाता है। क्योंकि सभी बड़ी languages के फीचर्स C++ से लिए गए है। यदि आप C++ को समझ गए है तो बाकि languages को भी आसानी से समझ सकते है। 
  4. C++ c भाषा का extension है। इसलिए वो सभी software जो c बनाये जा सकते है वो C++ में भी बनाये जा सकते है। 
  5. यदि आप चाहते है की आपका सॉफ्टवेयर low level पर भी उतने ही अच्छे तरीके से काम करे जितना high level पर तो आप C++ यूज़ कर सकते है।   
  6. Mostly जितनी भी नयी प्रोग्रामिंग language है वो pointer को खुलकर support नहीं करती है। यदि आप pointers के इस्तेमाल से कोई सॉफ्टवेयर क्रिएट करना चाहते है तो आप C++ का यूज़ कर सकते है।